पीछे राज्य छात्रवृत्ति (प्रीमैट्रिक)

परिचय

अनुसूचित जाति के विद्यार्थियों को शिक्षा प्राप्त करने में आर्थिक सहायता पहुंचाना।इस योजना में अनुसूचित जाति के उन्हीं छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति की पात्रता है, जो मध्यप्रदेश के मूल निवासी हैं और किसी मान्यता प्राप्त संस्था के नियमित छात्र-छात्रा हैं । इस योजना में आय सीमा का बंधन नहीं है ।

उदेद्श

अनुसूचित जाति के विद्यार्थियों को शिक्षा प्राप्त करने में आर्थिक सहायता पहुंचाना।

पात्रता

इस योजना में अनुसूचित जाति के उन्हीं छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति की पात्रता है, जो मध्यप्रदेश के मूल निवासी हैं और किसी मान्यता प्राप्त संस्था के नियमित छात्र-छात्रा हैं । इस योजना में आय सीमा का बंधन नहीं है ।

लाभ एवं संपर्क

अनुसुचित जाति के सभी विद्यार्थियों को जो कक्षा 1 से 10 तक शासकीय शालाओं अथवा मान्यता प्राप्त अशासकीय शालाओं में अध्ययन करते हैं उन्हें इस छात्रवृत्ति की पात्रता है। इस कार्यक्रम में कक्षा 1 से 10 तक निरंतर विद्या अध्ययन के लिये निम्नानुसार दर पर छात्रवृत्ति दी जाती है:- छात्रवृत्ति की दर कक्षा 1 से 5 छात्रा 150 रू. (10 माह के लिये) कक्षा 6 से 8 छात्र 200 रू. छात्रा 600 रू. (10 माह के लिये) कक्षा 9 से 10 छात्र 600 रू. छात्रा 1200 रू. (10 माह के लिये)

प्रक्रिया

विद्यार्थियों द्वारा निर्धारित प्रपत्र में आवेदन-पत्र संस्था में प्रस्तुत किया जाता है । शासकीय माध्यमिक और हाईस्कूल के संस्था प्रमुखों को स्वीकृति के अधिकार है । छात्रवृत्ति का वितरण बैंक के माध्यम से किया जाता है । अशासकीय शालाओं के विद्यार्थियों की छात्रवृत्ति शासकीय नोडल संस्था के प्राचार्य अथवा छात्र-छात्राओं को अपने आवेदन-पत्र के साथ स्थाई जाति प्रमाण-पत्र एवं अंकसूची, टी0सी0 की प्रमाणित प्रति संलग्न करना अनिवार्य है । जिला संयोजक/सहायक आयुक्त, आदिम जाति कल्याण,संबंधित शासकीय संस्था के प्रधान पाठक एवं प्राचार्य अथवा नोडल संस्था के प्राचार्य द्वारा ।

योजना प्रोफ़ाइल

NA
NA
NA
NA
NA
NA
NA से NA तक
NA
NA
NA